किसान क्रेडिट कार्ड कितनी जमीन चाहिए | Kisan Credit Card kitni jameen chahiye

दोस्तों इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि किसान क्रेडिट कार्ड, कितनी जमीन चाहिए? 

यानी किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी जमीन चाहिए? KCC बनवाने के लिए कितनी जमीन होनी चाहिए? 

दोस्तों भारत एक कृषि प्रधान देश है, यानी कि जनसंख्या का सबसे बड़ा भाग खेती-बाड़ी से ही जुड़ा हुआ है। 

देश के किसानों को खेती की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पैसों की जरूरत होती है, जिसके लिए उन्हें लोन लेना पड़ता है। 

उन्हीं की आर्थिक सहायता करने के उद्देश्य से सरकार द्वारा केसीसी/KCC यानी की Kisan Credit Card  की शुरुआत की गई है, जिसका लाभ वर्तमान में देश के लगभग 90% किसान उठा रहे हैं। 

KCC से संबंधित एक बहुत ही कॉमन सवाल कई किसानों और लोगों के मन में आता है कि आखिर किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी जमीन होनी चाहिए

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी जमीन चाहिए?
KCC ke liye Kitni jamin chahiye

या कम से कम कितनी जमीन होने पर KCC बनवा सकते हैं?

यहां इस लेख में हम मुख्य तौर पर इसी की बात करेंगे और जानेंगे कि किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी जमीन चाहिए

या किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए कितनी जमीन मांगी जाती है? 

इसके साथ-साथ हम किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में और इससे संबंधित दूसरी कुछ जरूरी बातों को भी जानेंगे।

किसान क्रेडिट बनाने के लिए कितनी जमीन चाहिए (Kcc ke liye Kitni jamin chaiye)

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए कोई minimum ज़मीन होने की सीमा नहीं तय की गई है। 

इसका मतलब यह है कि ऐसी कोई एक निर्धारित area नहीं है, कि किसान के पास कम से कम कितनी जमीन होनी ही चाहिए तभी वह KCC बनवा सकता है। 

खेती करने के लिए, ज्यादा जमीन वाले किसान भी किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं, और जिनके पास कम जमीन हैं, वह भी किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं। 

असल में जमीन के बारे में बात करने से पहले किसान क्रेडिट कार्ड क्या है? इसकी पूरी जानकारी ले लेना अच्छा रहता है।

किसान क्रेडिट कार्ड को आप एक प्रकार का लोन कह सकते हैं, जिसे सरकार द्वारा शुरू किया गया है, देश के किसानों को बैंकों से काफी कम दरों पर लोन उपलब्ध कराए जाने के उद्देश्य से। 

KCC योजना को भारत सरकार, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और नाबार्ड द्वारा मिलकर 1988 में ही शुरू किया गया था। जिसका उद्देश्य किसानों को आर्थिक सहायता पहुंचाने का था। 

किसान क्रेडिट कार्ड होने पर किसान (सब्सिडी के साथ) minimum 2% तक के interest rate पर लोन प्राप्त कर सकते हैं। 

इसका किसान और पशुपालक आदि लाभ ले सकते हैं। किसान KCC से बिना किसी गारंटी के 1.60 lakh का लोन ले सकते हैं, और ज्यादा से ज्यादा 3 lakh तक का लोन इसके अंतर्गत लिया जा सकता है। 

इसके अलावा इसके अंतर्गत किसानों को फसल बीमा आदि जैसी भी कई अन्य सुविधाएं मिलती है। 

देश के जितने भी मुख्य बैंक है वे सभी सरकार के निर्देश पर किसान क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत किसानों को लोन देते हैं। 

देश में किसानों की कितनी संख्या है, उसके 90% KCC का लाभ ले रहे हैं, क्योंकि खेती के लिए इससे सस्ते ब्याज दरों और नियम और शर्तों के साथ कहीं से भी लोन नहीं लिया जा सकता है।

प्रति एकड़ केसीसी ऋण सीमा (kcc loan per bigha)

जैसा कि हमने ऊपर कहा किसान क्रेडिट कार्ड के लिए किसी जमीन की सीमा तय नहीं की गई है कि Minimum इतनी जमीन होनी चाहिए। 

पर फिर भी इसका सही से लाभ लेने के लिए किसान के पास थोड़ी अच्छी खासी जमीन होनी ही चाहिए, क्योंकि जमीन के हिसाब से ही किसान को इसके अंतर्गत लोन मिलता है। 

यदि किसान के पास ½ बिघा ज़मीन हो, (जो की hectare में 0.125 होती है) तो ही उस किसान के लिए किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना फायदेमंद रहता है। 

कई बार इससे कम जमीन रहने पर भी बैंक kcc बनवा देते हैं, लेकिन उसकी निर्मित इतनी कम रहती है कि उससे किसान की कोई ज्यादा आर्थिक मदद नहीं हो पाती। 

इसीलिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाने के लिए किसान के पास 1/2 बीघा या इससे ज्यादा की जमीन हो तो ही अच्छा रहता है।

इसके अलावा एक बात यह भी है कि किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) बनवाने में आपको उतने सारे documents और उतना ही खर्चा लगता है, चाहे आपके पास कम जमीन हो या ज्यादा। 

इसीलिए थोड़ी अच्छी खासी जमीन होने पर ही KCC बनवाना अच्छा रहता है।

अगर आप किसान क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो नीचे क्लिक करें

कितनी जमीन पर कितना KCC limit बनता है (kcc Loan limit per area)

आप बात आती है कि कितनी ज़मीन पर किसान क्रेडिट कार्ड पर कितना लोन मिलता है? यानी KCC limit कितना होता है। 

तो जैसा कि हमने ऊपर कहा, किसान क्रेडिट कार्ड पर आप कितने तक का क्रेडिट यानी लोन ले सकेंगे यह निर्भर करता है, कि आपको काम कितने का है यानी आपकी जमीन कितनी है, जिस पर आपको खेती का खर्च आएगा। 

तो दोस्तों इस स्थिति में भी इसका कोई एक निर्धारित मानक नहीं है, कि आपको इतनी ज़मीन पर इतना लोन मिलेगा। 

आप जिस भी प्रदेश में रहते हैं, यानी कि आपका जिला, उसका जो Scale of finance होगा यानी फसल वित्तमान उसके अनुसार तय होती है। 

इससे संबंधित एक कमेटी होती है, जिसमें कई अधिकारी होते हैं। वे सभी मिलकर यह तय करते हैं कि आपके प्रदेश में जो भी फसलें बोई जाती हैं, उनका खर्च कितना आएगा, और उस हिसाब से लिमिट बनता है। 

ये कमेटी बहुत सारी चीजों को ध्यान में रखकर सलमान फसल वित्तमान निर्धारित करती है। 

उसके बाद जिले के सभी बैंकों को इसकी जानकारी भी दी जाती है और बैंक उसी हिसाब से KCC limit बनाते हैं। 

तो आप KCC के अंतर्गत कितना लाभ ले पाएंगे, यह निर्भर करता है कि आपके प्रदेश का स्केल ऑफ फाइनेंस उस वित्तीय वर्ष में क्या चल रहा है। 

इसके साथ-साथ आप किस फसल की खेती करेंगे, यह भी KCC limit में महत्वपूर्ण होता है।

1 बीघा जमीन पर कितना लोन मिल सकता है (kcc ke liye kitni jamin chaiye)

1 बीघा जमीन पर 60% से 70% का लोन मिलता है। अगर आप की जमीन की कीमत ₹100000 है तो आपको उस ₹100000 का 60 से 70% लोन के रूप में मिल जाता है।

1 बीघा जमीन पर बैंक से लोन लेने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी बैंक में जाना होगा और वहां पर आपको किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करना होगा।

किसान क्रेडिट कार्ड लेने के लिए सभी बैंकों की Term & Condition अलग-अलग होती है। इसीलिए आपको सभी Term & Condition को अच्छी तरह जानना होगा।

उसके बाद आप बैंक के कर्मचारी से अच्छी तरह बात करें तथा सारी चीजों को समझ ले। अगर आप सारे नियम और शर्तों से संतुष्ट हैं तो आप बैंक में किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

जब आप बैंक में किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करते हैं तो बैंक आप की जमीन की verification करता है। इसके बाद आपको लोन लेने के लिए अपनी जमीन का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होता है।

जैसे ही आप अपनी जमीन का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन successfully करवा लेते हैं तो इसके बाद बैंक आपके जमीन के हिसाब से लोन राशि दे देता है।

बैंक से जमीन पर लोन लेने के लिए कई बार बैंकों के चक्कर काटने भी पड सकते हैं और यह Loan process में थोड़ी देरी तो होती है।

बैंक की जमीन पर लोन लेने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट का इस्तेमाल करके आप उस राशि को अपने बैंक खाते में ट्रांसफर कर सकते हैं और किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा लोन लेने पर 7% वार्षिक ब्याज दर लगता है।

इसे भी जरूर पढ़ें

  • किसान क्रेडिट कार्ड के फायदे |

5 बीघा जमीन पर कितना लोन मिल सकता है

5 बीघा जमीन पर आपकी जमीन की कीमत का लगभग 70 से 80% तक लोन मिल सकता है। लोन इस चीज पर भी निर्भर करता है कि आप किस बैंक से लोन ले रहे हैं।

जब आप बैंक से लोन लेने जाते हैं तो बैंक पहले आपका जमीन का verification करता है। बैंक जमीन पर लोन देने के लिए जमीन की location और उस जमीन की असली market value का पता करता है। उसके बाद आपको उस जमीन की कीमत का 70 से 80% तक बैंक आपको loan मुहैया कराता है।

Kisan Credit Card Documents Required in hindi (kisan credit card)

अगर आप किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए लोन लेना चाहते हैं तो आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होना अनिवार्य है। जैसे-

  • जमीन का नक्शा
  • जमीन की फोटोकॉपी नकल
  • बैंक खाते की जानकारी
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • एड्रेस प्रूफ
  • जमीन के कागजात मालिकाना हक के साथ
  • आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर
  • इनकम प्रूफ

केसीसी लोन की जानकारी (Kisan Credit Card Yojana)

किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा की गई थी। सरकार को इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य किसानों की खेती संबंधित खर्च के लिए बैंक के माध्यम से आर्थिक मदद करना था, किसानों को जो भी लोन मिलता था।

उसमें उन्हें अत्यधिक ब्याज करना पड़ता था, किंतु किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से वह काफी कम ब्याज दर पर लोन ले सकते हैं। छोटे किसानों को ₹300000 तक का किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए लोन 7% ब्याज दर पर मिल सकता है। यदि आप 1 वर्ष के अंदर अपना लोन जमा कर देते हैं तो आपको इसमें 3% की छूट भी दी जाती है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी जमीन चाहिए। 

किसान क्रेडिट कार्ड किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा लॉन्च किया गया स्कीम है, जिसका लाभ वर्तमान में बहुत सारे किसान उठा रहे हैं। 

किसान क्रेडिट कार्ड के फायदे बहुत सारे हैं, और किसान उनका लाभ ले सकते हैं।

बहुत से किसानों के मन में यह प्रश्न रहता है, कि KCC बनवाने के लिए कितनी जमीन होनी चाहिए और इस लेख में हमने इसके बारे में बात की है।

धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *